मौजूदा पेज मायकोनोस द्वीप के बारे में जानकारी

Alternative title

Some alternative text

मायकोनोस द्वीप के बारे में जानकारी

प्रिंट
मायकोनोस, मछुआरों के गांव वाले मनोहर उपसमुद्र के इर्दगिर्द सिक्लेडिक स्थापत्य का शानदार नमूना है। एक-दूसरे से बेहद करीब बनीं, पूरी तरह से सफेदी की हुई ऑर्गेनिक क्यूब-नुमा इमारतें एक तरह की संकरी गलियों और सड़कों की बेतरतीब भूलभुलैया-सी बनाती हैं। इस शहर की झक सफेदी के चारों ओर नंगे पहाड़ों का धूसर रंग अद्वितीय नीले आसमान और अधिक गहरे नीले रंग की चमक वाले समुद्र के बीच उभरकर आता है। इसकी अनेक अच्छी तरह से संरक्षित पवनचक्कियां और सैकड़ों छोटे लाल-छतों वाले चर्च यहां की संस्कृति और परंपरा के मिजाज़ के अनुरूप हैं। यहां अनेक संग्रहालय हैं और नजदीक ही डेलोस का ऐतिहासिक प्राचीन स्थान है। दोस्ताना और खुले दिल वाले स्थानीय लोग ग्रीक आतिथ्य से सुपरिचित हैं। इसके साथ ही द्वीप की अन्य खूबियां भी हैं और इसी वजह से मायकोनोस को एजियन सागर का 'आभूषण' कहा जाता है।

मायकोनोस का नामकरण डेलोस के राजा के बेटे के नाम पर हुआ है। पौराणिक कथा के अनुसार, हरक्यूलिस ने दैत्यों को मारकर समुद्र में फेंक दिया जहां वे पत्थर बनकर विशालकाय चट्टानों में तब्दील हो गए, जिनसे मायकोनोस द्वीप बना। प्राचीनकाल में, उस समय के घनी आबादी वाले डेलोस से अपनी करीबी के कारण, मायकोनोस एक बेहद महत्वपूर्ण आपूर्ति द्वीप बन गया। धार्मिक नियमों के अनुसार, किसी का जन्म और मृत्यु डेलोस द्वीप पर नहीं होना चाहिए था, इसलिए लोग इन द्वीपों के बीच की 2 किमी की दूरी की यात्रा करते रहते थे। अलेक्ज़ेंडर महान के समय में यह द्वीप कृषि और समुद्री व्यापार का वाणिज्यिक केंद्र बन गया था।

सन् 1207 से1537 तक, जब तुर्कों ने बाकी ग्रीस के साथ ही इन द्वीपों पर प्रभुत्व कायम किया, तब तक शेष सिक्लेडिस की तरह मायकोनोस में भी वेनेशियन साम्राज्य कायम था। यहां के निवासी शानदार नाविक हुआ करते थे, इसलिए 1821 में उन्होंने 22 जहाज, बेड़े और हथियार देकर तुर्की शासन के खिलाफ यूनानी क्रांति में महत्वपूर्ण मदद प्रदान की थी। 1830 में देश स्वतंत्र होने के बाद द्वीप की अर्थव्यस्था और वाणिज्यिक ताकत धीमे-धीमे लेकिन ठोस ढंग से पुन:स्थापित हुई।

पहले और दूसरे विश्वयुद्ध के बीच मुख्यत: डेलोस के पुरातात्विक स्थल के कारण पर्यटक यहां आते थे। 50 के दशक में द्वीप की आबादी के साथ-साथ यहां आधुनिक पर्यटन में वृद्धि आरंभ हुई, लेकिन यह जैकी ओ और अन्य जेटसेटर्स ही थे, जिनके कारण 60 और 70 के दशक में यह द्वीप दुनिया के सर्वाधिक प्रसिद्ध हॉलिडे रिसॉर्ट में तब्दील हुआ।

प्रमुख स्थल दुकानें
  • सोवेनीर शॉप (होटल में)
  • प्रमुख फैशन डिजाइनर शॉप्स, 4.5 किमी पर मायकोनोस टाउन में
  • ज्वेलर, 4.5 किमी पर मायकोनोस टाउन में
  • मायकोनोस पेस्ट्री शॉप, 5 किमी

अपने सपनों को साकार करें

टाइप - संस्कृति
कीमत : प्रति जोड़ा 285 यूरो का पूरक
वैध तारीख : 1 मई 2013 से 15 अक्टूबर 2013
New Package

Website by x2interactive - Copyright 2010